Kanta Bai Lyrics in Hindi is a song sung, written and composed by Tony Kakkar in his album Sangeetkaar. Music label Desi Music Factory.

Kanta Bai Lyrics in Hindi कांता बाई | Tony Kakkar
Photo Credits

Kanta Bai Lyrics in Hindi

कांता बाई मेरे कमरे में चुपके चुपके आई
मैं तो कर रहा था पढाई क्यों आई, क्यों आई

कांता बाई मेरे कमरे में चुपके चुपके आई
मैं तो कर रहा था पढाई क्यों आई, क्यों आई
बिना बोले

इलू इलू केंदी मॉडल टाउन च रैंदी केंदी
मर्जानेया चालदे ना एसी बोहत गर्मी पेंदी
बिट्टू की केंदी
ओह तेरी बाहें दी
मुम्मा इलू इलू केंदी

केंदी दिन शनिवार दा वाजा मारदा
दही भल्ला खाऊँगी मंगल बाज़ार दा
मंगल बाज़ार से होके जाना सेक्टर चार में
जिथे रेह्न्दी ए सहेली मेरी शारदा

हा हा.. पता है फिर की केंदी

केंदी ज़ालिमा कोका कोला पिला दे, पिला दे, पिला दे
ओहदे नेक नि लगे इरादे इरादे इरादे
मैनू केंदी तेरा नंबर दे
मज़े ले इश्क समन्दर दे
इधर उधर ना देख तू बिजली गिरदे मेरी कमर पे
कहती संग में सो जाते हैं बेबी मुझको नींद है आई

कांता बाई मेरे कमरे में चुपके चुपके आई
मैं तो कर रहा था पढाई क्यों आई, क्यों आई
बिना बोले

बंदा मैं सीधा साधा हूँ
किसी को भी ना मैं सताता हूँ
सुन्दर लड़की जो पूछे
खुदको सिंगल ही मैं बताता हूँ
क्योंकि सिंगल रहते रहते मैंने जिंगल बेल बजाई

कांता बाई मेरे कमरे में यही देखने आई
कैसे होती है पढाई
क्यों आई, क्यों आई
बिना बोले
सही है बेटा

कांता बाई मेरे कमरे में बिकनी पहन के आई
ज़रा भी ना शरमाई
आज की रात को पक्का टूटेगी चारपाई भाई

Song: Kanta Bau
Album: Sangeetkaar
Singer: Tony Kakkar
Lyrics: Tony Kakkar
Music: Tony Kakkar
Label: Desi Music Factory

👉 More Songs From B Praak

This is the end of the lyrics. Thanks for the reading Kanta Bai Lyrics. If you find any correction in words do let us know in the comment section below, you can also submit lyrics by sending an email on [email protected] We will be more than happy to give you credits for the same.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here