Ik Mulaqaat Lyrics is the Hindi romantic song from the movie Dream Girl. The song is the latest creation of Meet Bros and sung by Meet bros, Altamash Faridi, and Palak Muchhal. The song Ik Mulaqaat is film on Ayushmann Khurana and Nushrat Bharuchha. The music for the song is given by Meet bros and written by Shabbir Ahmed.

Ik Mulaqaat Lyrics - Meet Bros | Dream Girl |2019
Photo Credit

Ik Mulaqaat Lyrics

Main bhi hu tu bhi hai aamne saamne
Dil ko behka diya ishq ke jaam ne
Musalsal nazar barasati rahi
Tarasate hai hum bheege barsaat mein

Ek mulaqat
Ek mulaqaat mein, baat hi baat mein
Unka yun muskurana gazab ho gaya
Kal talak wo jo mere khayalo mein the
Rubaru unka aana gazab ho gaya

Mohabbat ki pehli mulaqat ka
Asar dekho na jaane kab ho gaya
Ek mulaqaat mein, baat hi baat mein
Unka yun muskurana gazab ho gaya

Kuchh khayal nahi hai
Ek taraf main kahin
Ek taraf dil kahin
Ehsaas ki zameen pe
Kyun dhuan uth raha hai
Jal raha dil mera
Kyun pata kuchh nahi

Kyun khayalon mein kuch barf si gir rahi
Ret ki khwaahishon mein nami bhar rahi
Musalsal nazar barasati rahi
Tarasate hai hum bheege barsaat mein

Ek mulaqat
Ek mulaqaat mein, baat hi baat mein
Unka yun muskurana gazab ho gaya
Kal talak wo jo mere khayalo mein the
Rubaru unka aana gazab ho gaya

Movie: Dream Girl
Singer: Meet Bross, Altamash Faridi, Palak Muchhal
Lyrics: Shabbir Ahmed
Music: Tanish Bagchi
Label: Zee Music Co.

Ik Mulaqaat Lyrics in Hindi

मैं भी हूँ तू भी है आमने सामने
दिल को बहका दिया इश्क के जाम ने

मैं भी हूँ तू भी है आमने सामने
दिल को बहका दिया इश्क के जाम ने
मुसलसल नज़र बरसती रही
तरसते हैं हम भीगे बरसात में

इक मुलाक़ात..
इक मुलाक़ात में, बात ही बात में
उनका यूँ मुस्कुराना गज़ब हो गया
कल तलक वो जो मेरे ख्यालों में थे
रूबरू उनका आना गज़ब हो गया

मोहब्बत की पहली मुलाक़ात का
असर देखो ना जाने कब हो गया

इक मुलाक़ात में, बात ही बात में
उनका यूँ मुस्कुराना गज़ब हो गया

मख्ताबह दैदतह का कुछ ख्याल नहीं है
इक तरफ मैं कहीं, इक तरफ दिल कहीं

“आँखों का ऐतबार मत करना
ये उठे तो कत्लेआम करती हैं
कोई इनकी निगाहों पे पहरा लगाओ यारों
ये निगाहों से ही खंज़र का काम करती है”

मख्ताबह दैदतह का कुछ ख्याल नहीं है
इक तरफ मैं कहीं, इक तरफ दिल कहीं
एहसास की ज़मीं पे क्यूँ धुआँ उठ रहा
है जल रहा दिल मेरा क्यूँ पता कुछ नहीं

क्यूँ ख्यालों में कुछ बर्फ सी गिर रही
रेत की ख्वाहिशों में नमी भर रही
मुसलसल नज़र बरसती रही
तरसते हैं हम भीगे बरसात में

इक मुलाक़ात..
इक मुलाक़ात में, बात ही बात में
उनका यूँ मुस्कुराना गज़ब हो गया
कल तलक जो मेरे ख्यालों में थे
रूबरू उनका आना गज़ब हो गया

मोहब्बत की पहली मुलाक़ात का
असर देखो ना जाने कब हो गया

इक मुलाक़ात में, बात ही बात में
उनका यूँ मुस्कुराना गज़ब हो गया
हो.. ओ..

👉 More Songs You May Like

This is the end of the lyrics.Thanks for the reading Ik Mulaqaat Lyrics. If you find any correction in words do let us know in the comment section below, you can also reach out to us on our mailing address. If you want to submit lyrics kindly send us an email on [email protected] We will be more than happy to give you credits for the same.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here